Assistant Station Master (ASM)

Railway Station Master कैसे बने? इसकी योग्यता, सैलरी कितनी होती है?

वर्तमान समय में अधिकांश युवा रेलवे में नौकरी हासिल करना चाहते है क्योंकि रोजगार के आधार पर भारतीय रेल सेवा सर्वाधिक नौकरी देने वाला सार्वजनिक उपक्रम है, रेलवे भर्ती बोर्ड द्वारा समय-समय पर विभिन्न पदों के लिए नियुक्तियां की जाती है। ऐसे ही रेलवे में स्टेशन मास्टर (Station Master) युवाओं के लिए सबसे प्रतिष्ठित पद होता है।अगर आप भी रेलवे स्टेशन मास्टर (Railway Station Master) बनने का ख्वाब देख रह है तो अपने सपनों को पूरा कर सकते है बस आपको पता होना चाहिए कि रेलवे स्टेशन मास्टर कैसे बने, हर किसी के दिमाग में सवाल उठता है आखिर रेलवे स्टेशन मास्टर की तैयारी कैसे करे और इसमें भर्ती होने के बेस पर स्टेशन मास्टर के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए।आज इस आर्टिकल में हम आपको यही बताने वाले हैं कि, रेलवे स्टेशन मास्टर कैसे बने? इस आर्टिकल को पूरा पढ़ने के बाद आपको रेलवे स्टेशन मास्टर कैसे बनते हैं? के बारे में पूरी जानकारी हो गाएगी।

रेलवे स्टेशन मास्टर क्या होता है? What is Railway Station Master in Hindi

आपको बता दे, यह रेलवे स्टेशन का प्रमुख अधिकारी होता है, एक स्टेशन मास्टर प्रत्येक आधिकारिक गतिविधि जो स्टेशन पर हो रही होती है उनके लिए योग्य होता है। स्टेशन परिसर के अंदर प्रत्येक आधिकारिक काम की निगरानी व निर्देशित करना इनका मुख्य काम होता है।

यह रेलवे स्टेशन की सुरक्षा और कुशल संचालन रखने के लिए भी जिम्मेदार रहता है, यदि एक नजर डाले तो रेलवे स्टेशन के लिए रेलवे द्वारा लगाये गए सभी अधिकारियों में से सबसे प्रतिष्ठित पद स्टेशन मास्टर के रूप में होता है।

रेलवे स्टेशन मास्टर कैसे बने? How to Become Railway Station Master in Hindi

यदि जो अभ्यर्थी स्टेशन मास्टर बनना चाहते है तो उन्हें रेलवे भर्ती बोर्ड द्वारा नियमित अंतराल पर आयोजित आधिकारिक एग्जाम अनुसार पढ़ाई करनी चाहिए। साथ ही, अभ्यर्थी को स्टेशन मास्टर पद प्राप्त करने के लिए बहुत ही मेहनत करनी होती है।

                                 अभ्यर्थी को स्टेशन मास्टर बनने के लिए ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए, उम्मीदवार किसी भी विषय में अपना ग्रेजुएशन पूरा करके आवेदन कर सकते है। स्टेशन मास्टर्स की नियुक्ति के लिए ऑनलाइन एग्जाम होता है।उम्मीदवार को लिखित परीक्षा में प्री एग्जाम और मैन्स एग्जाम के रूप में दो चरणों से गुजरना होगा, यदि आप रेलवे स्टेशन मास्टर परीक्षा में पास हो जाते है तो अंतिम चरण के आधार पर योग्यता और दस्तावेजों की जांच की जाती है।

स्टेशन मास्टर के लिए योग्यता (Qualification for Station Master in Hindi)

रेलवे स्टेशन मास्टर बनने के लिए उम्मीदवार के पास किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन की डिग्री होनी आवश्यक होती है।

  • सामान्य श्रेणी अभ्यर्थी की न्यूनतम आयु 18 वर्ष और अधिकतम 32 वर्ष के मध्य होनी चाहिए।
  • जबकि आरक्षित श्रेणी के अभ्यर्थियों को नियम अनुसार छूट दी जाती है।

यदि हमारे द्वारा बताई गई योग्यता अभ्यर्थी के पास है तो वह उम्मीदवार रेलवे स्टेशन मास्टर के लिए Apply कर सकते है।

रेलवे स्टेशन मास्टर चयन प्रक्रिया (Station Master Selection Process)

उम्मीदवार को स्टेशन मास्टर बनने के लिए लिखित परीक्षा के रूप में 2 चरणों गुजरना होता है, प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा पर आधारित एग्जाम होता है। जो इस प्रकार है।

  1. प्रारंभिक परीक्षा- Preliminary examination
  2. मुख्य परीक्षा- Mains exam

प्रारंभिक परीक्षा: इसमें अभ्यर्थी से ऑब्जेक्टिव प्रकार के प्रश्न पूछे जाते है, जिसमे सामान्य ज्ञान, अंकगणितीय क्षमता और सामान्य अंग्रेजी से आधारित सवाल आते है। परीक्षा में कुल 100 अंक होते है जिनको करने के लिए 90 मिनट का समय दिया जाता है। रेलवे बोर्ड द्वारा आधारित प्रत्येक गलत प्रश्न का 1/3 अंक काटे जाते है।

मुख्य परीक्षा: उम्मीदवार प्रारंभिक एग्जाम को उत्तीर्ण कर लेता है तो उन्हें मुख्य परीक्षा के लिए समय अनुसार बुलाया जाता है, जिसमे सामान्य जागरूकता, मैथमेटिक्स, सामान्य बुद्धि और विचार से आधारित प्रश्न पूछे जाते है। परीक्षा में कुल 120 अंक होते है जिसमे 90 मिनट का टाइम दिया जाता है। इन परीक्षा में भी नेगेटिव मार्किंग निर्धारित होती है।

यदि उमीदवार इन दोनों एग्जाम को उत्तीर्ण कर लेता है तो उन्हें योग्यता अनुसार डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन करने के बाद रेलवे बोर्ड के द्वारा स्टेशन मास्टर पद के आधार पर चुन लिया जाता है।

स्टेशन मास्टर एग्जाम की तैयारी कैसे करें? How to Prepare for Station Master in Hindi

यदि जो अभ्यार्थी Railway में Station Master बनना चाहता है तो उन्हें जरुरी है कि एक लक्ष्य अनुसार पढ़ाई करे, अभ्यर्थी को स्टेशन मास्टर एग्जाम पैटर्न समझ लेने के बाद Syllabus अनुसार परीक्षा की तैयारी करनी चाहिए। परीक्षा सिलेबस के आधार पर टॉपिक्स को पढ़ना चाहिए। साथ ही, सभी विषयों के लिए एक निर्धारित टाइम टेबल बनाकर पढ़ें।

अभ्यर्थी को जिन विषयों में लगता है कि आप ज्यादा कमजोर है तो उन सब्जेक्ट्स की तैयारी करने में अधिक ध्यान एवं समय देना ज़रूर है। आप चाहे तो कोचिंग भी कर सकते है और प्रतिदिन संभव हो तो नोट्स बनकर पढ़ें ताकि आपका मानसिक शक्ति और नोट्स लिखने की क्षमता में इजाफा हो सके।

अभ्यर्थी को सामान्य ज्ञान या करंट अफेयर की तैयारी के लिए निरंतर न्यूज़, समाचार पत्र, इंटरनेट और टीवी के माध्यम से जानकारी प्राप्त कर सकते है। साथ ही, अभ्यर्थी को परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए समय-सारणी बनानी होगी, जिससे अभ्यार्थी प्रत्येक विषय के लिए पर्याप्त टाइम बना सकता है। इसके अलावा, शारीरिक रूप से स्वस्थ मन और सटीक निर्णय लेने योग्य होना चाहिए।

रेलवे स्टेशन मास्टर वेतन (Station Master Salary)

यदि हम एक नजर डाले तो रेलवे स्टेशन मास्टर के रूप में बहुत ही अच्छा वेतन होता है, वैसे तो किसी भी सरकारी कर्मचारी का वेतन पे-बैंड पर निर्धारित होता है। किसी भी कर्मचारी का वेतन उसके पद अनुसार निर्धारित की जाती है। ऐसे ही रेलवे स्टेशन मास्टर के लिए निर्धारित पे-स्केल लगभग वेतनमान 5200 से लेकर 20200 रूपये प्रतिमाह होता है। साथ ही, ग्रेड पे 2800 रूपये दिया जाता है। यदि एक तरह देखा जाये कुल सैलरी औसतन 38 000- 42000 रूपये हो सकती है।

इसके अलावा, रेलवे स्टेशन मास्टर को कई तरह के भत्ते भी दिए जाते है जैसे, ट्रांसपोर्ट एलाउंस, हाउस रेंट एलाउंस, कैश मेडिकल बेनेफ़िट, ग्रुप मेडिक्लेम आदि एलाउंस रेलवे द्वारा अलग-अलग कैंडिशन के आधार पर दिया जाता है, जोकि स्टेशन मास्टर के रूप में वेतन और भत्ते बेहद सम्मानजनक मिलता है।

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में हमने आपको Railway station master के बारे में बताया। रेलवे स्टेशन मास्टर क्या होता है?, स्टेशन मास्टर कैसे बने, स्टेशन मास्टर बनने के लिए योग्यता, चयन प्रक्रिया, परीक्षा की तैयारी कैसे करे, साथ ही रेलवे स्टेशन मास्टर की सैलरी कितनी होती है पूरा विस्तार से बताया।

I hope, यह आर्टिकल पूरा पढ़नें के बाद आपको रेलवे स्टेशन मास्टर कैसे बने? के बारे में सभी जानकारी मिली होगी। इसके अलावा, यदि अभी भी आपके मन में इससे संबंधित कोई सवाल या सुझाव है तो हमें कमेंट में बता सकते है।

x